February, 2024

सामान्य

मासिक राशिफल 2024 के अनुसार, यह महीना आपके लिए मध्यम से बेहतर रहने की संभावना है। देव गुरु बृहस्पति आपके एकादश भाव में रहकर आपकी इच्छाओं की पूर्ति करेंगे। आपके किसी कार्य में व्यवधान नहीं आने देंगे और आपकी आमदनी में अच्छी बढ़ोतरी कराएंगे, तो वहीं भाग्य स्थान के स्वामी शनि महाराज भाग्य स्थान में रहकर आपको लंबी यात्राएं कराएंगे, धन लाभ कराएंगे, धर्म लाभ कराएंगे और आप की नौकरी में बदलाव का संकेत लेकर आएंगे। व्यापार में अच्छी उन्नति होने के योग बनेंगे। महीने की शुरुआत में मंगल और शुक्र आपके सप्तम भाव में बैठकर दांपत्य जीवन में प्रेम योग बनाएंगे तो प्रेमी युगल के प्रेम विवाह की स्थिति भी बन सकती है।

कार्यक्षेत्र

करियर के दृष्टिकोण से यह महीना आपके लिए उत्तम रहने की संभावना है। दशम भाव के स्वामी देव गुरु बृहस्पति एकादश भाव में रहकर आपको आप के वरिष्ठ अधिकारियों का कृपा पात्र बनाएंगे। वे आपकी हर संभव सहायता करेंगे और आपको उचित मौके प्रदान करेंगे जिनसे आप अपने करियर में उन्नति कर पाएंगे। नौकरी में आपको अपने काम का पूरा प्रतिफल मिलेगा और आपकी पद वृद्धि के योग बनेंगे। इसके साथ ही आपकी तनख्वाह में वृद्धि भी हो सकती है। दशम भाव में राहु महाराज विराजमान रहेंगे जो पूरे महीने ही यहां हैं। इससे आप बड़ी से बड़ी समस्याओं को बहुत आसानी से हल कर डालेंगे। आपका यह प्रदर्शन आपको अन्य लोगों से आगे रखेगा और आपको प्रशंसा मिलेगी। मंगल, और शुक्र के प्रभाव से आपको नौकरी में बड़ा पद मिलने की संभावना बन सकती है। मासिक राशिफल 2024 भविष्यवाणी करता है कि व्यापार करने वाले जातकों के लिए महीने की शुरुआत बढ़िया रहेगी। शुक्र और मंगल एक साथ सप्तम भाव में बैठकर आपके व्यापार में आशातीत वृद्धि के संकेत देते हैं। हालांकि 5 तारीख को मंगल आपके अष्टम भाव में चले जाएंगे, तब व्यापार में कुछ कमी दिखाई देगी लेकिन आप व्यापार को लेकर कुछ नए प्रयास करेंगे जिनका आपको आने वाले समय में लाभ होने का अंदेशा रहेगा। व्यापार के सिलसिले में की गई यात्रा लाभदायक रहेगी। व्यापार में विदेशी संपर्कों का लाभ मिलेगा।

आर्थिक

यदि आपकी आर्थिक स्थिति को देखा जाए तो इस महीने आपकी आर्थिक स्थिति उतार-चढ़ाव के बीच झूलती नजर आएगी। एक तरफ तो देव गुरु बृहस्पति हैं जो आपके एकादश भाव में विराजमान रहकर आपकी आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने में पूर्ण सहायता करेंगे और आपकी आमदनी को बढ़ाते रहेंगे और शनि महाराज भी नवम भाव में स्थित रहकर एकादश भाव को पूर्ण दृष्टि से देखकर आपकी आमदनी में अच्छी बढ़ोतरी का संकेत देते हैं तो वहीं दूसरी ओर, महीने की शुरुआत में सूर्य महाराज के अष्टम भाव में जाने से कुछ समस्याएं सामने आ सकती हैं। केवल इतना ही नहीं, महीने के उत्तरार्ध में तो मंगल और शुक्र जैसे ग्रह भी आपके अष्टम भाव में आ जाएंगे जिससे कोई भी नया निवेश करना आपके लिए मुफीद नहीं रहेगा और उससे आपको धन हानि हो सकती है इसलिए इस महीने आपको अपने धन का सही इस्तेमाल करने पर पूरा ध्यान देना होगा। मासिक राशिफल 2024 संकेत दे रहा है कि बिना सोचे विचारे निवेश करना नुकसानदायक हो सकता है और आपकी आमदनी में गिरावट हो सकती है। तीसरे भाव के स्वामी सूर्य महाराज के 13 तारीख को नवम भाव में आने से कुछ लाभ होगा लेकिन आपको अपने खर्चों पर नियंत्रण रखना होगा जिससे आपकी आर्थिक स्थिति सुंदर होगी। विदेशी संपर्कों से आपका व्यापार लाभ प्रदान करेगा।

स्वास्थ्य

यह महीना स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से उतार-चढ़ाव से भरा रहेगा। आपके राशि स्वामी महीने की शुरुआत में सूर्य देव के साथ आपके अष्टम भाव में विराजमान रहेंगे तथा छठे भाव के स्वामी पंचम भाव और द्वादश भाव के स्वामी के साथ सप्तम भाव में स्थित होकर आपकी राशि पर दृष्टि डालेंगे। इस दृष्टिकोण से देखा जाए तो स्वास्थ्य में गिरावट आ सकती है और आपको स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। 5 फरवरी को मंगल आपके अष्टम भाव में आएंगे और 12 फरवरी को शुक्र भी अष्टम भाव में आ जाएंगे जिससे आपकी शारीरिक समस्या में बढ़ोतरी हो सकती है। हालांकि सूर्य 13 तारीख को निकल कर नवम भाव में जाएंगे लेकिन वहां पर भी पहले से ही शनि महाराज विराजमान रहेंगे तथा 20 तारीख को बुध भी नवम भाव में आ जाएंगे। इस प्रकार मुख्य रूप से आपका अष्टम और नवम भाव ज्यादा सक्रिय रहने के कारण आपको कुछ समस्याएं और शरीर के अंदरूनी हिस्सों में किसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है। इसके कारण पेट खराब होने की स्थिति भी बन सकती है इसलिए अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें।

प्रेम व वैवाहिक

यदि आप किसी प्रेम संबंध में हैं तो महीने की शुरुआत बहुत बढ़िया रहेगी। आप और आपके प्रियतम के बीच प्रेम विकसित होगा। आप प्यार की सच्ची परिभाषा को समझेंगे। एक दूसरे को बराबर समय देंगे। एक दूसरे की कद्र करेंगे, एक दूसरे की भावनाओं को महत्व देंगे और अपने रिश्ते में परिपक्व होंगे। देव गुरु बृहस्पति की दृष्टि पंचम के साथ-साथ सप्तम भाव पर भी रहेगी और पंचम भाव के स्वामी शुक्र महाराज महीने की शुरुआत में आपके सप्तम भाव में स्थित रहेंगे। यह समय प्रेम विवाह के लिए उत्तम रहेगा। यदि आप चाहें तो आपका प्रेम विवाह इस दौरान हो सकता है क्योंकि 12 तारीख को शुक्र महाराज राशि परिवर्तन कर जाएंगे और आपके अष्टम भाव में चले जाएंगे। यह समय उन लोगों के लिए अच्छा रहेगा, जो अपने प्यार को गुप्त रखना चाहते हैं और अभी उजागर करना नहीं चाहते। विवाहित जातकों की बात करें तो मंगल और शुक्र की सप्तम भाव में उपस्थिति जहां एक तरफ आपके बीच प्यार की बढ़ोतरी करेगी और रोमांस के अवसर प्राप्त होंगे तो वहीं महीने के उत्तरार्ध में मंगल और शुक्र दोनों के ही अष्टम भाव में जाने से विवाहेतर संबंधों की स्थिति भी बन सकती है जिससे बचने की कोशिश करें क्योंकि इसका आप के वैवाहिक जीवन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।

पारिवारिक

यह महीना पारिवारिक तौर पर उतार-चढ़ाव से भरा रहने की संभावना है क्योंकि चौथे भाव में केतु महाराज और दशम भाव में राहु महाराज विराजमान रहेंगे। आपका मन घर पर कम लगेगा। परिवार जनों से मनमुटाव भी हो सकता है। आपके माता-पिता को स्वास्थ्य समस्याएं भी परेशान कर सकती हैं। महीने की शुरुआत में सूर्य महाराज जो कि आप के तीसरे भाव के स्वामी हैं, अष्टम भाव में रहेंगे जिससे भाई बहनों से कहासुनी होने और उन्हें कोई शारीरिक समस्या होने का अंदेशा रहेगा लेकिन 13 तारीख को सूर्य महाराज अष्टम भाव से निकलकर नवम भाव में आ जाएंगे, जहां पहले से ही शनि विराजमान रहेंगे। इससे भाई बहनों की स्थिति में सुधार होगा। उनसे आप के संबंध में सुधरेंगे लेकिन पिताजी के स्वास्थ्य में गिरावट आ सकती है। उनकी सेहत का ध्यान रखें और घर में शांति बनाए रखने की कोशिश करें।

उपाय

आपको रविवार के दिन सूर्य देव को जल देना चाहिए।
शनिवार के दिन श्री शनि चालीसा का पाठ करें।
मंगलवार के दिन श्री हनुमान जी को चार केले अर्पित करें।
बुधवार के दिन विशेष रूप से श्री बुध देव के बीज मंत्र का जाप करें।