February, 2024

सामान्य

मासिक राशिफल 2024 के अनुसार, यह महीना वृश्चिक राशि के जातकों के लिए औसत प्रतीत हो रहा है। आपको अपनी काम में व्यस्तता के चलते परिवार से कुछ समय के लिए दूरी का सामना करना पड़ सकता है। परिवार के लोगों को आप से शिकायत हो सकती है कि आप उन्हें समय नहीं देते हैं। भाई व बहनों का सहयोग मिलेगा। किसी पारिवारिक फंक्शन में शामिल होने का मौका मिलेगा। आर्थिक स्थिति या उतार-चढ़ाव के बीच आगे बढ़ेंगे। प्रेम संबंधों के लिए अनुकूल समय रहेगा। वैवाहिक जीवन में खुशहाली रहेगी, लेकिन नोकझोंक की भी संभावना रहेगी। व्यापार में उन्नति के लिए कठिन प्रयास करने होंगे। विद्यार्थियों के लिए समय चुनौतीपूर्ण रह सकता है। विदेश जाने के लिए कोशिश कर रहे हैं, तो अभी और प्रतीक्षा करनी पड़ सकती है।

कार्यक्षेत्र

करियर के दृष्टिकोण से यह महीना आपके लिए अच्छा रहने वाला है। दशम भाव के स्वामी सूर्य महाराज महीने की शुरुआत में आपके तीसरे भाव में बुध के साथ स्थित रहेंगे, जिससे आपको अपने सहकर्मियों का पूरा सहयोग मिलेगा और वह हर काम में आपकी मदद करेंगे, जिससे आपको अपने कार्य क्षेत्र में नौकरी में सफलता मिलेगी, लेकिन 13 तारीख को सूर्य आपके चतुर्थ भाव में आ जाएंगे, जहां पर पहले से ही शनिदेव विराजमान हैं, इससे कार्यक्षेत्र में आपकी मेहनत तो बढ़ेगी, लेकिन किसी बात को लेकर आपको अपमान महसूस हो सकता है इसलिए किसी से भी ज्यादा बातचीत ना करें और अपने काम पर पूरा ध्यान दें। व्यापार करने वाले जातकों के लिए भी यह महीना अच्छा रहेगा। शुरुआत में कुछ चुनौतियां तो रहेंगी, जो महीने के पूर्वार्ध में दूर हो जाएंगे। आप अपने व्यापार में कुछ नए लोगों का साथ मिलेगा और छोटी यात्राओं के माध्यम से व्यापार की उन्नति का रास्ता खुलेगा।

आर्थिक

यदि आपकी आर्थिक स्थिति को देखा जाए, तो आईने की शुरुआत वैसे तो अनुकूल रहेगी क्योंकि केतु महाराज आपके एकादश भाव में विराजमान रहेंगे और श्री महाराज दशम भाव में तथा महीने की शुरुआत में शुक्र और मंगल आपके दूसरे भाव में रहकर अर्थ लाभ कराएंगे। मासिक राशिफल 2024 संकेत दे रहा है कि आपका बैंक बैलेंस भी बढ़ेगा और ख़र्च में भी नियंत्रण में रहेंगे। हालांकि देव गुरु बृहस्पति छठे भाव में रहकर आपके द्वादश भाव को पूर्ण दृष्टि से देखेंगे, जिससे पूजा-पाठ ही अन्य शुभ कार्यों पर ख़र्च भी होगा लेकिन वह आपकी प्रसन्नता का कारण बन सकता है और एक सामान्य ख़र्च होने की संभावना है। आप इस महीने कम ख़र्च दबाव महसूस करेंगे, जिसके कारण आपकी आर्थिक स्थिति में उन्नति के योग बनेंगे। व्यापार करने वाले जातकों को महीने के उत्तरार्ध में अच्छी आमदनी का लाभ मिलेगा, जिससे आप अपनी योजनाओं को भी पूरा कर सकते हैं। निवेश करने के लिए यह समय अनुकूल हो सकता है, लेकिन किसी विशेषज्ञ की सलाह लेकर ही आगे बढ़ना बेहतर होगा।

स्वास्थ्य

यह महीना स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से उतार-चढ़ाव से भरा रहने वाला है। देव गुरु बृहस्पति के आप के छठे भाव में पूरे महीने बने रहने से उदर रोगों के प्रति आपको सावधानी रखनी होगी, क्योंकि पेट में समस्या हो सकती है। पाचन तंत्र का बिगड़ना बदहजमी, गैस, अपच जैसी समस्याएं आपको समय-समय पर परेशान कर सकती हैं, उसके बाद तीसरे भाव में मंगल शुक्र और बुध तथा सूर्य का उपस्थित होना आपको गले की खराश या कानों में समस्या दे सकता है, इसलिए थोड़ी सी सावधानी रखें। यदि इस दौरान कोई नई दिनचर्या शुरू करना चाहते हैं या अपनी पुरानी दिनचर्या में कुछ अच्छा बदलाव करना चाहते हैं, तो आपके लिए अनुकूल समय रहेगा और उसका आपके स्वास्थ्य‌ के ऊपर लाभ भी दिखाई देगा।

प्रेम व वैवाहिक

यदि आप किसी प्रेम संबंध में हैं, तो महीने की शुरुआत अनुकूल रहेगी। राहु महाराज पंचम भाव में बैठकर आपको प्यार के मामले में अलग ही ऊंचाई प्रदान करेंगे। आप अपने प्रियतम से हवा हवाई बातें करेंगे, उनसे ऐसा कहेंगे कि आप यह कर सकते हैं, आप वह कर सकते हैं भले ही आप कर ना पाए, लेकिन अपनी बातों में उलझा कर उन्हें अपना मुरीद बना लेंगे और आपके प्यार में पागल आपके पीछे रहेंगे। जिससे आपका प्यार परवान चढ़ेगा, लेकिन आपको यह चेतावनी दी है कि सावधानी रखें और अतिशयोक्ति का प्रयोग करने से बचें, जो वादा कर सके, उसे पूरा करें और अपने प्यार के प्रति सच्चे रहे, तभी आपका रिश्ता आगे बढ़ पाएगा। विवाहित जातकों की बात करें, तो महीने की शुरुआत अनुकूल रहेगी। रिश्ते में प्रेम और रोमांस का तड़का लगेगा। एक दूसरे से प्यार का इज़हार भी होगा और परिवार की जिम्मेदारी निभाएंगे, उसके बाद 12 तारीख को जब शुक्र आपके तीसरे भाव में आ जाएंगे और उससे पहले मंगल तीसरे भाव में विराजमान ही रहेंगे, तो यह समय थोड़ा चुनौतीपूर्ण हो सकता है। इस दौरान रिश्ते में तनाव बढ़ सकता है। एक दूसरे से संघर्ष की स्थिति बन सकती है, इसलिए सावधानी रखें।

पारिवारिक

यह महीना पारिवारिक तौर पर मिश्रित परिणाम लेकर आएगा। शुक्र और मंगल के महीने की शुरुआत में दूसरे भाव में होने से परिवार में किसी फंक्शन का आयोजन किया जा सकता है, जिसमें सभी लोग आने-जाने में लगे रहेंगे, जिससे परिवार में रोनक रहेगी। भाई व बहनों का आपको पूरा सहयोग मिलेगा और उनके माध्यम से आपके कई रुके हुए काम भी बनेंगे। शनि पूरे महीने आपके चतुर्थ भाव में रहेंगे, लेकिन 13 तारीख को सूर्य के भी चतुर्थ भाव में आने से माता जी के स्वास्थ्य में समस्याएं बढ़ सकती हैं, उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखें। इस दौरान पारिवारिक जीवन में तनाव बढ़ सकता है। लोगों में आपसी सामंजस्य की कमी देखने को मिल सकती है। 20 तारीख को बुध ग्रह के भी आपके चतुर्थ भाव में आ जाने से आपसी कहासुनी और जुबानी जंग होने की संभावना रहेगी, इसलिए जहां तक संभव हो धैर्य रखें और मुंह से कोई भी कड़वा वचन निकालने से बचे। आपका पारिवारिक जीवन शांतिपूर्ण रहेगा।

उपाय

आपको गुरुवार के दिन पीपल के वृक्ष को छुए बिना जल अर्पित करना चाहिए।
आपको भगवान विष्णु के मंदिर जाकर उन्हें पीला चंदन अर्पित करना चाहिए और उसी से अपने मस्तक पर तिलक भी लगाना चाहिए।
शनिवार के दिन छाया दान करना आपके लिए अनुकूल रहेगा।
आपको काले कुत्ते को रोटी और दूध खाने को देना चाहिए।