February, 2024

सामान्य

मासिक राशिफल 2024 के अनुसार, यह महीना आपके लिए धार्मिकता लेकर आएगा। आपके मन में धर्म-कर्म के नए-नए विचार आएंगे और आप उन्हें पूरा करने की कोशिश करेंगे। लंबी धार्मिक यात्राएं भी होंगी तीर्थाटन से आपके मन को शांति का अहसास होगा। परिजनों के साथ किसी अच्छे स्थान की यात्रा करना आपको प्रसन्नता प्रदान करेगा। करियर में अच्छी सफलता मिल सकती है, बस उसके लिए आपको थोड़ी सी और ज्यादा कोशिश करनी होगी। विद्यार्थियों के लिए समय मिलाजुला रहने वाला है। पारिवारिक जीवन में भी उतार-चढ़ाव रहेगा। धन को लेकर आपको उतार-चढ़ाव की स्थिति का सामना करना पड़ सकता है। विदेश जाने में सफलता मिल सकती है।

कार्यक्षेत्र

करियर के दृष्टिकोण से यह महीना शुरुआत में कुछ चुनौतियां लेकर आएगा। नौकरी करने वाले जातकों की बात करें, तो दशम भाव के स्वामी शुक्र महाराज अपने से अष्टम भाव में यानी कि पंचम भाव में महीने के शुरुआत में मंगल के साथ उपस्थित रहेंगे, जिससे नौकरी में बदलाव के प्रबल योग बनेंगे। यदि आप नौकरी प्राप्ति की दिशा में प्रयास कर रहे हैं, तो इस दौरान आपको सफलता मिल सकती है और कोई दूसरी नौकरी प्राप्त हो सकती है। छठे भाव में सूर्य और बुध की उपस्थिति होने से आप अपनी नौकरी में अपने दिमाग का पूरा इस्तेमाल करेंगे और उसकी बदौलत आपको अच्छी सफलता प्राप्त होगी।
महीने के उत्तरार्ध में मंगल और शुक्र आप के छठे भाव में रहेंगे। विरोधी भी उत्पन्न हो सकते हैं। आपको परेशान कर सकते हैं। हालांकि इनसे आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है और अपना काम करते रहना है। व्यापार जगत के लोगों के लिए महीना अच्छा रहने वाला है, क्योंकि सप्तम भाव के स्वामी शनि महाराज सप्तम भाव में विराजमान रहेंगे और धीरे-धीरे आपके व्यापार में उन्नति लेकर आएंगे। आपको बाहरी माध्यमों से अपने व्यापार में सफलता मिल सकती है। व्यापार के सिलसिले में की गई यात्राएं आपको अच्छी सफलता प्रदान कर सकती हैं। कुछ दीर्घ सूत्री परियोजनाओं को शुरू करने के लिए उत्तम समय रहेगा, जिनका भविष्य में आपको अच्छा लाभ प्राप्त होगा।

आर्थिक

यदि आपकी आर्थिक स्थिति को देखा जाए, तो महीने के शुरुआत औसत रहने वाली है। एक तरफ तो मंगल और शुक्र पंचम भाव में बैठकर आपके एकादश भाव को देखेंगे, इससे आपकी आमदनी में जबरदस्त बढ़ोतरी होने के योग बनेंगे, लेकिन दूसरी तरफ सूर्य और बुध के द्वादश भाव को देखने से खर्चों में तेजी आएगी और आपकी बेतहाशा खर्चे बढ़ेंगे, जो आपको परेशानी में डाल सकते हैं, इसके बाद मंगल और शुक्र के भी छठे भाव में आकर द्वादश पर दृष्टि डालने से ख़र्चों में और तेज़ी आएगी। मासिक राशिफल 2024 संकेत दे रहा है कि इस अवधि आप अपनी सुख-सुविधाओं पर खुलकर धन खर्च करेंगे, जिससे धन की कुछ समस्या हो सकती है। दूसरे भाव में केतु का विराजमान होना भी धन लाभ के दृष्टिकोण से अधिक अनुकूल नहीं रहेगा। राहु के अष्टम भाव में होने से धन हानि के योग बन सकते हैं, इसलिए किसी भी तरह का निवेश सोच समझकर करें। हालांकि देव गुरु बृहस्पति के नवम भाव में होने और शनि की राशि में सप्तम भाव में होने से व्यापार में उन्नति होगी। नौकरी में धीरे-धीरे सफलता मिलेगी, जिससे कुछ हद तक आप अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत बना पाएंगे। फिर भी आपको सोच समझ कर ही धन खर्च करना होगा।

स्वास्थ्य

यह महीना स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से मिले-जुले परिणाम लेकर आएगा। छठे भाव में सूर्य और बुध की उपस्थिति होने के कारण शारीरिक समस्याएं जन्म लेंगी, लेकिन अपने आप ही चली भी जाएंगी और आपको ज्यादा परेशान नहीं कर पाएंगी। मंगल और शुक्र के भी छठे भाव में आ जाने से शारीरिक समस्याएं आपको चिंता तो देंगी, लेकिन धीरे-धीरे वह दूर भी हो जाएंगी। हालांकि दूसरी और राहु के अष्टम भाव में उपस्थित होने से कुछ ऐसी समस्याएं आपके सामने आ सकती हैं, जिनको एकदम से समझ पाना मुश्किल होगा, उससे आपको अपनी स्वास्थ्य समस्याओं में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। बृहस्पति महाराज नवम भाव में बैठकर आपकी राशि पर दृश्य डालेंगे, इससे स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने में आसानी होगी और आप अपने स्वास्थ्य को लेकर सजग रहेंगे, तो सफलता आपके कदम चूमेगी और आपका स्वास्थ्य उत्तम होगा।

प्रेम व वैवाहिक

यदि आप किसी प्रेम संबंध में हैं, तो महीने की शुरुआत बहुत ही खूबसूरत रहने वाली है। मंगल और शुक्र पूरी तरह से रोमांस के योग बनाएंगे। आपके दिल में रूमानियत भरी रहेगी और उसे अपनी कलात्मकता से अपने प्रियतम के दिल में उतारने की कला आपको आती है, इससे आप दोनों के बीच का सामंजस्य और भी बेहतर होगा। एक दूसरे को दिल के करीब महसूस करेंगे और अपने रिश्ते को लूट लेंगे। आपको अपने प्यार को आगे बढ़ता देखकर प्रसन्नता होगी और आप अपने प्रियतम के लिए बहुत कुछ करेंगे, जहां आवश्यकता होगी।
आप उनका मार्गदर्शन भी करेंगे, इससे आपके रिश्ते में विश्वास की डोर मजबूत होगी और इसका परिपक्व होगा। यदि विवाहित जातकों की बात करें, तो वैवाहिक जीवन के लिए भी यह महीना अनुकूल रहेगा। शनि महाराज सप्तम भाव के स्वामी होकर सप्तम भाव में ही विराजमान रहेंगे। जीवनसाथी आपके प्रति समर्पित रहेंगे। अपने सभी का प्रेम से पूर्ण करेंगे, लेकिन महीने के उत्तरार्ध में 13 तारीख को सूर्य के सप्तम भाव में शनि के साथ आ जाने से और फिर 20 तारीख को बुध के भी कुंभ राशि में सप्तम भाव में आ जाने से आपसी व्यर्थ के वाद विवाद और अहम का टकराव हो सकता है, इससे बचने की कोशिश करेंगे, तो वैवाहिक जीवन का लाभ उठा पाएंगे।

पारिवारिक

यह महीना पारिवारिक तौर पर मध्य में आने की संभावना है। महीने की शुरुआत अच्छी रहेगी। चतुर्थ भाव के स्वामी मंगल पंचम भाव में रहकर आपसी प्रेम और सामंजस्य की भावना को बढ़ाएंगे, लेकिन दूसरे भाव में पूरे महीने केतु की उपस्थिति पारिवारिक सदस्यों के बीच कुछ ना कुछ मतभेद उत्पन्न कर सकती है। आपकी वाणी में कुछ ऐसे शब्द निकलेंगे, जिनका एक से अधिक अर्थ निकाले जा सकते हैं और बात का बतंगड़ बनाया जा सकता है, जिससे कुटुंब लोगों में आपसी तनातनी या अलगाव की संभावना बन सकती है, उसको दूर करने के लिए थोड़ा धैर्य दिखाना होगा। राहु के अष्टम भाव में विराजमान रहने से पिताजी को स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए उनके स्वास्थ्य का ध्यान दें। भाई बहनों से आपको पूरा सहयोग मिलेगा और उनसे आपका रिश्ता प्रेमवत चलता रहेगा।

उपाय

आपको राह के कुत्तों को खाने के लिए कुछ ना कुछ देना चाहिए।
बृहस्पतिवार के दिन गीले चावल बना कर सरस्वती माता का भोग लगाएं और खुद भी प्रसाद स्वरूप खाएं।
अपने मस्तक पर केसर का तिलक अवश्य लगाएं।
प्रतिदिन तांबे के लोटे में थोड़ा जल और गंगाजल लेकर और उसमें थोड़ा सा लाल कुमकुम या लाल मिर्च के बीज मिलाकर सूर्य देव को अर्पित करें।