January, 2020

सामान्य

धनु राशि का स्वामित्व होने के कारण आप अपने लक्ष्य के प्रति केंद्रित और सदैव गति मान रहना पसंद करते हैं। आपकी अग्नि तत्व राशि होने के कारण और गुरु उस का स्वामी होने के कारण आप ज्ञान के बल पर हर स्थिति का अवलोकन करते हैं और उसके बाद परिस्थितियों का सामना करते हैं। यहां शारीरिक और मानसिक तथा ज्ञान के स्तर पर आप हर तरीके से अपनी चुनौतियों से आगे बढ़ते हैं। आपको आज़ादी पसंद है और आप अपनी स्वतंत्रता में किसी का हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं करते। यही वजह है कि कई बार आपके निजी जीवन में परेशानियां आ जाती हैं क्योंकि आप अपने रिश्तो में इतनी गहराई तक नहीं जा पाते जितनी की आवश्यकता होती है। आपके साथी को सदैव आप से शिकायत रहती है कि आप अपना अधिक समय बाहर बताते हैं।आप धर्म के प्रति जागरूक रहते हैं और आस्थावान होते हैं तथा समाज में एक अच्छा मुकाम हासिल करते हैं। आप के आस पास के लोगों में आपका अलग स्थान होता है और आपको काफी महत्व भी दिया जाता है, लेकिन कई बार आपका मुखर हो कर बोलना आपके दुश्मन पैदा कर देता है और आप बेवजह ही समस्याओं से घिर जाते हैं। जनवरी 2020 में आपकी राशि का स्वामी ग्रह बृहस्पति आपकी ही राशि में उपस्थित होने के कारण आप काफी सशक्त रहेंगे और आप के निर्णय लेने की क्षमता में अच्छी ख़ासी वृद्धि होगी। कठिन से कठिन निर्णय आप आसानी से ले लेते हैं लेकिन इस महीने में आपको कुछ चुनौतियाँ पेश आएँगी। इसके अतिरिक्त आपका ध्यान अनेक कार्यों में लगा रहेगा। इसकी वजह से संभवत आप अपने गोल से भटक सकते हैं। महीने का उत्तरार्ध, पूर्वार्ध की अपेक्षा अधिक सुकून दायक रहने वाला है। इस दौरान आपके निर्णयों के सुपरिणाम आपको प्राप्त होंगे।इस महीने हल्की-फुल्की यात्राएं होंगी जो मुख्य रूप से आप अपने निकटवर्ती लोगों के साथ घूमने फिरने और इंजॉय करने के मकसद से करेंगे। इससे ना केवल आपको नई स्फूर्ति मिलेगी बल्कि आप जीवन के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण रखकर आगे बढ़ेंगे। आप की यही सोच आपको हर क्षेत्र में आगे बढ़ाने के लिए प्रेरणा दायक सिद्ध होगी।महीने की शुरुआत में आपको स्वादिष्ट पकवान खाने को मिल सकते हैं और संभवत घर में कोई शुभ कार्य संपन्न हो सकता है जिससे परिवार वाले भी खुशी-खुशी रहेंगे। परिवार में खुशी और उल्लास का वातावरण रहेगा और मेहमानों की आवभागत हो सकती है।

कार्यक्षेत्र

करियर के मोर्चे पर आपको सजग रहना होगा। परिस्थितियां अचानक से बन और बिगड़ सकती हैं। हालांकि मुख्य रूप से देखा जाए तो कार्य क्षेत्र में आप अच्छा ही प्रदर्शन करेंगे और आप के वरिष्ठ अधिकारी भी आपको अपनी ओर से पूरा समर्थन देंगे। जिसकी मदद से आप को कुछ सुविधाएँ मिल सकती हैं। महिला सहकर्मियों के साथ अच्छा व्यवहार आप को आगे बढ़ाने में मददगार साबित होगा, इसलिए इस ओर विशेष रूप से ध्यान दें। बुध देव आप के कर्म भाव के स्वामी हैं और उनका गोचर 13 जनवरी को आपके दूसरे भाव में होने के बाद कार्य क्षेत्र में बेहतर स्थितियों का निर्माण होगा और आप अपनी सोच को आगे बढ़ा पाएंगे। इस दौरान आप अपनी प्रतिष्ठा को भी मजबूत बनाएँगे और कार्यस्थल पर आपके कार्य को सराहना प्राप्त होगी। लेकिन 24 जनवरी को शनि का मकर में गोचर होने के बाद बुध सूर्य और शनि तीनों एक ही राशि में होंगे ऐसी स्थिति में जहां एक ओर आपको कार्य क्षेत्र से जबरदस्त लाभ मिलेगा वही आप स्वयं ही अपने पाँव पर कुल्हाड़ी मारने के लिए कोई उल्टी-सीधी बात कर सकते हैं जिसका प्रभाव आपके ऑफिस में आपके कार्य पर पड़ेगा। यदि बात आपके व्यापार की की जाये, तो यह मान कर चलिए कि आप को अच्छा लाभ मिलने वाला है लेकिन उसे आप तक पहुंचने में थोड़ा समय ज़रूर लगेगा। यानी कि कुछ अड़चनें आएँगे जो आपके बनते बनते कामों को रोक सकते हैं और उसमें मुख्य वजह आपका खुद का व्यवहार भी हो सकता है। आप जानते ही हैं कि व्यापार को आगे बढ़ाने के लिए व्यक्ति का और व्यवहार सबसे महत्वपूर्ण होता है इसलिए सबसे मीठा बोल ना आपके लिए बेहतर होगा अन्यथा की स्थिति में आपके हाथ से निकल सकते हैं और व्यापार बढ़ने की वजह घटने की राह पर चल सकता है। व्यवहार में बदलाव लाए और सबसे अच्छा व्यवहार करें तथा व्यापारिक रूप से भी साफ छवि के साथ आगे बढ़े। जनवरी का उत्तरार्ध आपके व्यापार को वर्दी देगा और अंतिम सप्ताह से आपके कार्य में स्थायित्व आना प्रारंभ हो सकता है।

आर्थिक

जनवरी 2020 के दौरान आर्थिक स्थिति धीरे-धीरे सुधरेगी और पूर्वार्ध की अपेक्षा उत्तरार्ध में आपकी आर्थिक स्थिति अधिक मजबूत हो जाएगी। आपको आपके कार्यक्षेत्र से भी अच्छे प्रतिफल की प्राप्ति होगी और जिससे व्यापार आदि को आप करते हैं वो भी इस दौरान आपकी जमा पूँजी में कुछ ना कुछ योगदान अवश्य करेगा और आप आर्थिक रूप से सुदृढ़ता की ओर बढ़ेंगे। इस महीने के शुरुआती दिनों में आपको किसी वाद विवाद से धन की प्राप्ति हो सकती है। 24 जनवरी के बाद तो धन के आगमन का कोई स्थाई स्रोत बन सकता है, क्योंकि शनि देव जब अपने ही राशि में गोचर करेंगे तो आपके लिए धन लाभ के मार्ग खोल देंगे अब से आपको वह समय चालू हो जाएगा जब आप धन जमा कर पाने में अर्थात उस का संचय कर पाने में सफल होंगे और आपकी आर्थिक स्थिति भी इसकी वजह से काफी बढ़िया हो जाएगी। सूर्य का गोचर भी छोटी-मोटी समस्याओं के बावजूद आपको धन लाभ करवाएगा और यदि आप सरकारी नौकरी करते हैं या सरकारी क्षेत्र से संबंधित किसी कार्य से जुड़े हैं तो इस दौरान आपको जबरदस्त लाभ मिलने की संभावना बनेगी। मंगल की 12 वे भाव में गोचर स्थिति आपके खर्चे बढ़ाए रखेगी जिसकी वजह से आपको अपनी आमदनी को बढ़ाने के बारे में गंभीर हो कर सोचना पड़ेगा। इस दौरान आपकी सुदूर यात्राएं होंगी या फिर विदेश जाने की संभावना भी बनेगी जिसकी वजह से भी आपका काफी धन खर्च होगा। महीने की शुरुआत में आप कोई भी बड़ा निर्णय लेने से पहले कई बार सोच लें या फिर उस निर्णय को कुछ समय के लिए टाल दें। इस कार्य के लिए महीने का उत्तरार्ध काफी बेहतर विकल्प रहेगा और इस दौरान किए गए निर्णय आपको अच्छे परिणाम देंगे। 9 जनवरी के बाद आप अपने छोटे भाई बहनों के लिए कोई कार्य करेंगे या फिर उनकी आर्थिक तौर पर मदद करेंगे। आप कोई संचार का साधन जैसे कि मोबाइल या लैपटॉप आदि ख़रीद सकते हैं। इस दौरान आपको कोई भी निवेश करने से उसके बारे में पूरी जानकारी जुटा लेनी चाहिए अन्यथा लाभ के स्थान पर हानि अधिक हो सकती है। यदि संभव हो तो निवेश कुछ समय के बाद करें। इस महीने के अंत में आप कोई स्थाई संपत्ति अर्जित कर सकते हैं।

स्वास्थ्य

स्वास्थ्य के प्रति उदासीनता आपको रोगी बना सकती है क्योंकि ध्यान रखिए कि इस महीने की शुरुआत से ही 5 ग्रह आप ही की राशि में उपस्थित हैं जिसकी वजह से आपको मानसिक रूप से दबाव महसूस हो सकता है और मानसिक तनाव में वृद्धि हो सकती है। जहां बस पति देव अपनी ही राशि में है और आपको मजबूती देंगे वहीं शनि सूर्य और केतु की एक साथ उपस्थिति मानसिक तनाव को बढ़ाने वाली होगी और आपको क्रोध की अधिकता, इरिटेशन, बुखार, आदि से संबंधित समस्याएं परेशान कर सकती हैं। इस महीने आप शारीरिक की वजह मानसिक रूप से अधिक तनाव महसूस करेंगे और यही वजह रहेगी कि आप जल्दी जल्दी थक जाएंगे और अपने अंदर एक अजीब सी कमज़ोरी महसूस करेंगे। 15 जनवरी को जब सूर्य का गोचर आपके दूसरे भाव में होगा तभी से सिटी में थोड़ी कमी आएगी लेकिन पूरी तरह से स्थिति ठीक होने में अभी समय लगेगा। 24 जनवरी के बाद शनिदेव भी दूसरे भाव में सूर्य के साथ पहुंच जाएंगे तब आपको भोजन से संबंधित समस्याएं, मुख से संबंधित रोग, वाणी में कर्कशता जैसी परेशानियां आपका स्वास्थ्य बिगाड़ सकती हैं।खान पान को नियमित बनाएं और पर्याप्त मात्रा में नींद लें। इससे आपका स्वास्थ्य कुछ हद तक नियंत्रित रहेगा। संभव हो तो योग अथवा ध्यान का सहारा भी ले सकते हैं।

प्रेम व वैवाहिक

प्रेमियों के लिए जनवरी की शुरुआत थोड़ी कष्टकारी हो सकती है और उसकी वजह है कि उनके प्यार में जुदाई आ सकती है। संभव है कि आपका प्रियतम आपसे दूर चला जाए। लेकिन इसकी जड़ में आपके रिश्ते में समस्या नहीं बल्कि उनकी अपनी कोई मजबूरी हो सकती है। संभव है कि पढ़ाई के सिलसिले में उन्हें विदेश जाना पड़े या फिर उनके परिवार में किसी सदस्य का स्थानांतरण हो जाए जिसकी वजह से वह दूर चले जाएं। लेकिन इसका आपके रिश्ते पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ेगा बल्कि आपके प्रेम संबंधों में और प्रगाढ़ता आएगी और आप एक-दूसरे से दूर जाकर एक दूसरे के महत्व को और ज्यादा समझेंगे। इस वजह से आपका प्रेम और बढ़ जाएगा। 15 जनवरी के बाद आप भी थोड़े से व्यस्त हो जाएंगे। तब आपको अपने प्रियतम से मिलने के लिए समय निकालने का प्रयास करना होगा। यह दूरी आपके बीच किसी परेशानी को जन्म ना दें इसके लिए आपको अपने प्रियतम से बड़े प्यार से मीठे स्वभाव से बात करनी होगी ना कि उनसे दूर जाने की टेंशन को उनके सामने रखकर। अगर वह दूर जाते हैं तो भी आप उनसे संपर्क में बने रहिए और उनसे मिलने का प्रयास करें।

वहीं शादीशुदा जीवन में बहुत सारी समस्याएं आपका इंतजार कर रही हैं। आपका जीवनसाथी आपको अपनी बातों में उलझाने का प्रयास करेगा और अपनी बात मनवाने की पूरी कोशिश करेगा लेकिन आप किसी ना किसी वजह से उनकी बात को टालते जाएंगे जिसकी वजह से आप दोनों के बीच कुछ खटास उत्पन्न ना हो सकती है। आप शांत मन से उनकी हर बात सुने और जो बात आपको उचित लगे उसे अवश्य पूरा करें ताकि उन्हें भी लगे कि आप उनकी बात मानते हैं लेकिन जो बात सही ना हो उसे टालना ही बेहतर रहेगा। 13 जनवरी के बाद जब बुध का गोचर मकर में होगा उस समय से आपके जीवन साथी का स्वास्थ्य खराब हो सकता है और यह स्थिति सूर्य और शनि के गोचर के बाद और बिगड़ सकती है लिहाजा इस दौरान अपने जीवन साथी के स्वास्थ्य समस्याओं के प्रति पूरी तरह से जागरूक और सजग रहें तथा अगर आवश्यकता पड़े तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं ताकि किसी भी प्रकार की अनहोनी से बचाया जा सके। आपका जीवनसाथी यदि कामकाजी हैं तो इस दौरान उन्हें पदोन्नति मिलने की भरपूर संभावना रहेगी। ऐसे में यदि आप उन्हें प्रेरित करते हैं तो उन्हें अच्छा लगेगा और उनकी यह प्रसन्नता उन्हें कामयाबी के शिखर तक पहुंचाएगी। विवाह योग्य अविवाहित जातकों को अच्छा रिश्ता मिलने की संभावना रहेगी।

पारिवारिक

पारिवारिक जीवन के लिए जनवरी अच्छा महीना रहेगा और परिवार में खूब ख़ुशियाँ आएँगी। परिवार के सभी लोग आपस में मिलजुल कर रहने में आनंद महसूस करेंगे और महीने की शुरुआत में ही कोई शुभ कार्य घर में संपन्न हो सकता है या फिर किसी फंक्शन में आपका पूरा परिवार व्यस्त रह सकता है। आपके घर मेहमानों का आगमन हो सकता है और उनकी आव भगत और देखभाल में आपका समय लगेगा तथा घर में व्यस्तता और चहल-पहल बनी रहेगी। परिवार में उल्लास का वातावरण रहेगा और सभी खुशी-खुशी आने वाले मेहमानों का सत्कार करेंगे। प्रॉपर्टी से संबंधित कोई कर आप परिवार की सहमति से करेंगे जिससे आपको सफलता मिलेगी तथा इस दौरान कोई घर ख़रीद कर अपने परिवार वालों को दे सकते हैं। 15 जनवरी के बाद सूर्य के गोचर के कारण कुटुंब में कुछ हलचल रहेगी और जब शनि का गोचर 24 जनवरी को सूर्य के साथ होगा तो उस स्थिति में आपके कुटुंब में तीखी बहस और किसी बात को लेकर लड़ाई भी संभव है। ऐसे में आपको संयम बरतने की सलाह दी जाती है।इसके साथ-साथ आपको परिवार में शांति स्थापित करने के लिए आगे आना होगा। धन संबंधित मुद्दे के कारण भी परिवार में अशांति का वातावरण रह सकता है जिससे आपकी खुशी कम हो जाएगी। लेकिन आपको घबराने की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है क्योंकि लग्न में उपस्थित बृहस्पति आपको मार्गदर्शन देगा और आप परिवार को एकजुट रख पाने में कामयाब होंगे। इस महीने परिवार के किसी बुजुर्ग सदस्य को शारीरिक कष्ट होने की संभावना है इसलिए उनकी सेहत का पूरा ध्यान रखें। आपके भाई बहनों का आपको पूरा सहयोग मिलेगा और विशेष रूप से महीने के अंतिम सप्ताह में आर्थिक रूप से भी आपकी सहायता करने के लिए आगे आएँगे जिससे आपके संबंधों में प्रगाढ़ता बढ़ेगी और आवश्यकता पड़ने पर आप भी उनकी सहायता करेंगे। इस महीने में आपके परिवार में किसी सदस्य के जुड़ने का अच्छा योग बन रहा है।

उपाय

इस महीने के दौरान आपको केले के पेड़ की पूजा करनी चाहिए तथा इसके साथ-साथ पीपल के वृक्ष को बिना छुए प्रत्येक बृहस्पतिवार को जल देना चाहिए। प्रतिदिन अपने मस्तक पर केसर अथवा हल्दी का तिलक लगाना आपके लिए बेहतर रहेगा। उत्तम स्वास्थ्य और मान सम्मान की प्राप्ति के लिए आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें और सूर्य देव को तांबे के पात्र में जल अर्पित करें। आप बृहस्पतिवार के दिन किसी भाग अथवा मंदिर में पीपल का वृक्ष रोपें। अपने पिता, गुरु और गुरु तुल्य लोगों का सम्मान करें। शनिवार के दिन सरसों के तेल या फिर काली उड़द की दाल का दान भी कर सकते हैं। इसके अलावा पक्षियों को सतनजा अर्थात सात प्रकार का अनाज खाने के लिए डालें।