January, 2020

सामान्य

वृषभ राशि में जन्म लेने के कारण आप अपनी धुन के पक्के होते हैं और अत्यधिक मेहनत करने वाले होते हैं। इनका चिन्ह वृषभ होता है जो धर्म का प्रतीक है और मेहनत करने की ओर इशारा करता है। जब तक इन्हें कोई परेशान ना करें यह अपने काम से काम रखते हैं लेकिन अगर किसी ने ने परेशान किया तो फिर भी उसका पीछा नहीं छोड़ते। आप ज़मीन से जुड़े होते हैं क्योंकि वृषभ एक पृथ्वी तत्व की राशि है। आप स्वभाव से रोमांटिक होते हैं इसलिए आपकी प्रेम की सीमा का कोई अंत नहीं। आप जीवन के सभी सुख भोगना चाहते हैं और उसके लिए मन लगाकर मेहनत करते हैं आपकी यही खूबी आपको सबसे अलग बनाती है और आपका प्रियतम भी आप किसी को भी का कद्रदान है। आप को इस महीने की शुरुआत थोड़ा संभलकर करना ही आपके लिए बढ़िया रहेगा क्योंकि आप के अष्टम भाव में पांच ग्रहों का जमावड़ा है जिसके द्वारा आप को कुछ अच्छे और कुछ परेशान करने वाले परिणामों की प्राप्ति हो सकती है। इस दौरान आपको कानून का पालन करना चाहिए क्योंकि उसके विरुद्ध जाने पर आपको शासकीय दंड मिल सकता है। सूर्य के अष्टम भाव में रहने के कारण आप के कुछ पुराने राज़ बाहर आ सकते हैं, जिनके कारण आपको मानहानि का सामना करना पड़ सकता है। कुछ अप्रत्याशित और अनचाही यात्राएं आपका इंतजार कर रही हैं, जो इस महीने आपको करनी पड़ेंगी और उन पर खर्च भी जबरदस्त तरीके से होगा। गूढ़ आध्यात्मिक विषयों में आपकी रुचि जागेगी और यदि आप साधना करते हैं तो आपको अनेक अच्छे परिणामों की प्राप्ति होगी। कुछ ऐसे दिव्य अनुभव होंगे जो आपको पहले कभी नहीं हुए थे। पिता को शारीरिक दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है और यह स्थिति पूरे महीने बनी रह सकती है इसलिए उनकी सेहत का पूरा ध्यान रखें और समय रहते चिकित्सीय परामर्श अवश्य लें। आपके पास अचानक से धन आएगा और इतना आयेगा कि जिसकी आपने कल्पना भी नहीं की थी, लेकिन यह धन खर्च भी जल्द ही हो सकता है, इसलिए इसका सदुपयोग करना ही बेहतर तरीका होगा। धन के अच्छे तालमेल के लिए और आपके वित्तीय प्रबंधन के लिए आपको अपने खर्चो और आमदनी को लिखना चाहिए ताकि आप समझ सके कि कहां कमी आ रही है।

कार्यक्षेत्र

पिछले काफी समय से आप अपने करियर में कुछ असंतुष्टि का भाव महसूस कर रहे थे और उसकी वजह यह थी कि आप जितनी मेहनत कर रहे थे आपको उसका उतना प्रतिफल प्राप्त नहीं हो रहा था और इसी वजह से आप अपनी जॉब को बदलना भी चाह रहे थे। यह सब कुछ इसलिए था क्योंकि आपके कर्म भाव का स्वामी शनि राशि से अष्टम भाव में चल रहा था। दूसरे शब्दों में कहें तो आपकी मेहनत गड्ढे में जा रही थी। लेकिन वास्तव मैं ऐसा बिलकुल भी नहीं है बल्कि आपने जो काम भी मेहनत से किया है, आपको उसका शत प्रतिशत परिणाम मिलेगा और ऐसा 24 जनवरी के बाद होगा, जब शनि देव का गोचर अष्टम भाव से निकलकर नवम भाव से होगा। शनिदेव की विशेषता ही यही है कि वह पहले व्यक्ति की परीक्षा लेते हैं और उनसे मेहनत करवाते हैं और यदि व्यक्ति मेहनत करता है तो फिर प्रसन्न होकर उसे बहुत अच्छे परिणाम देते हैं। इसलिए आपको भी आपकी मेहनत का फल मिलेगा। संभवत जिस ट्रांसफर को आप लंबे समय से चाह रहे थे वह इस महीने आपको मिल जाए। इसके अलावा आपकी जॉब में पदोन्नति होने की भी अच्छी संभावना है। हालांकि शुरुआत में कुछ रुकावटें आएंगी, लेकिन आपको परेशान होने की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है। यदि आप अपनी नौकरी बदलना चाहते हैं तो उसके लिए जनवरी का अंतिम सप्ताह बेहतर रहेगा तब तक धैर्य धारण करें। व्यापारियों के लिए थोड़ा सा चुनौतीपूर्ण समय रहने वाला है जबकि 15 जनवरी के बाद स्थिति में थोड़ा बदलाव आएगा और आपको धन संबंधित लाभ होंगे। अपनी आमदनी को बढ़ाने के लिए भूलकर भी किसी गलत मार्ग का चयन ना करें अन्यथा आपको लेने के देने पड़ सकते हैं।

आर्थिक

आप एक ऐसे प्राणी है जो लगातार मेहनत करना चाहते हैं क्योंकि आप जीवन के सभी सुख सुविधाओं का आनंद उठाना चाहते हैं और उन्हें पाने के लिए जो कुछ भी संभव हो आप अपनी मेहनत के बल पर करते हैं। यही वजह है कि धन संबंधित मामलों में आपको विशेष तौर पर रूचि होती है। यदि जनवरी की बात की जाए तो वर्ष की शुरुआत के पहले महीने में राहु आपकी राशि से दूसरे भाव में मिथुन में रहेंगे। अकेले राहु की ये स्थिति ही आपको उत्तम धन लाभ दिलाने में सहायक बनेगी। आपकी वाणी में एक जादू सा आएगा जो आपके हर काम को बनवाएगा। आप जिनसे काम लेना चाहते हैं उन्हें अपनी बातों के जाल में फंसा लेंगे और हर काम निकलवा लेंगे जिससे आपको उत्तम धन लाभ होगा। अष्टम भाव में ग्रहों का जो जाल फैला हुआ है वह कुछ हद तक आपकी आर्थिक स्थिति को कमजोर करेगा और इसके कारण आप कुछ ऐसे निर्णय लेंगे जो आपको धन की हानि करवा सकते हैं। दूसरी और आपके अप्रत्याशित खर्चे भी बढ़े चढ़े रहेंगे जिसके कारण भी आपको वित्तीय अनियमितताओं का सामना करना पड़ेगा। लेकिन 13 जनवरी के बाद स्थिति में बदलाव आएगा और आपकी आमदनी धीरे-धीरे बढ़ना चालू हो जाएगी। 24 जनवरी के बाद स्थिति और भी विकसित होगी और आप महीने के अंत तक एक उत्तम फाइनेंशियल पोजिशन में आ जाएंगे। बस आपको ध्यान रखना है इस महीने की शुरुआत से ही थोड़ा संभल कर चलें और बेवजह के खर्चों में ना पड़ें। आपके कुछ खर्चे परिवार वालों की तबीयत पर खर्च हो सकते हैं और कुछ पैसे अपने ससुराल पक्ष में भी आप खर्च करेंगे।

स्वास्थ्य

स्वास्थ्य को लेकर स्थिति थोड़ी नाजुक रह सकती है। लेकिन कोई गंभीर बीमारी होने की संभावना नहीं है बल्कि अब बीमारी से राहत मिलने के योग बनेंगे। आपको वात और कफ़ से संबंधित समस्या परेशान कर सकती हैं जो कि माह के अंतिम सप्ताह में धीरे धीरे ठीक हो जाएंगी और आप फिर से स्वस्थ हो जाएंगे। नियमित रूप से योग जरूर करें या फिर सुबह की सैर का आनंद लेते हुए जोगिंग पर जाएं। सुबह उठकर थोड़ा गुनगुना पानी अवश्य पिएं और शरीर में पानी की मात्रा को कम ना होने दें। अपने आपको ऊर्जावान बनाए रखने के लिए सूखे मेवे खाएं और कोई इंस्पिरेशनल किताब पढ़ने की कोशिश करें, जिससे आपको आगे बढ़ने में मदद मिले।

प्रेम व वैवाहिक

प्रेमी युगल के सामने चुनौतियां आएंगी जिसमें विशेष रूप से एक-दूसरे से दूर जाना या फिर विचारों का ना मिलना शामिल है। लेकिन कोई ऐसी बात नहीं है जो आपके रिश्ते को पूरी तरह से खराब करे बल्कि आप किसी भी रिश्ते को दिल से निभाना जानते हैं और इस वजह से ही आप किसी भी कठिन चुनौती का मुकाबला कर सकते हैं। 13 जनवरी के बाद बुध के गोचर के प्रभाव से प्रेम जीवन में बाहर फिर से लौट आएगी और यदि पिछले कुछ समय से कोई समस्या चली आ रही थी तो इस दौरान वह आपसी बातचीत से सुलझ जाएगी और आप फिर से प्रेम की पींगे बढ़ाते हुए नजर आएँगे। हां यदि आप अपने प्रेम जीवन में थोड़ा रोमांस जोड़ दें और समय-समय पर अपने प्रियतम की तारीफ करते रहें , तो आप देखेंगे कि आपका रिश्ता कितना बढ़िया चलता है। जो लोग विवाहित हैं उन्हें एक बात का ध्यान रखना होगा कि सप्तम भाव में मंगल की उपस्थिति पूरे महीने भर रहने वाली है, इसलिए यह समय धैर्य रखने का है। आपके जीवनसाथी के स्वभाव में थोड़ा गुस्सा, बेचैनी और किसी बात को लेकर ज़िद्द बढ़ सकती है। उनका यह व्यवहार आप को पसंद नहीं आएगा लेकिन आपको उनकी हर बात ध्यान से सुननी चाहिए ताकि किसी भी लड़ाई झगड़े में ना पड़ें और रिश्ते की गरिमा बनी रहे। इस दौरान आपको अपने ससुराल पक्ष के लोगों से मुलाकात करने का अवसर मिलेगा, ध्यान रखें उन लोगों के सामने किसी भी कारण अपने जीवनसाथी की कोई बुराई ना करें। सप्ताह का उत्तरार्ध काफी अच्छा रहेगा और दांपत्य जीवन में चली आ रही तल्ख़ियां कम होंगी।

पारिवारिक

सामान्यतया वृषभ राशि के जातक थोड़े मनमौजी होते हैं लेकिन हर काम को मेहनत से करना पसंद करते हैं और इस जी तोड़ मेहनत के कारण ही उनमें पृथ्वी तत्व की शक्ति होती है जो उन्हें अपनों से जोड़ कर रखती है। पारिवारिक रूप से यह महीना उतार-चढ़ाव से भरा रहेगा और महीने की शुरुआत से ही घर में कुछ उठापटक चलेगी। जिसकी वजह से आपको मानसिक रूप से असंतुष्टि का सामना करना पड़ेगा और घर में भी लोगों का स्वास्थ्य शायद उतना अच्छा ना रहे। लेकिन महीने का उत्तरार्ध काफी बेहतर रहेगा और आप सामाजिक सरोकार के कार्यों में परिवार के साथ शामिल होंगे। मान-सम्मान में वृद्धि होगी और परिवार के सभी सदस्य मिलजुल कर आगे बढ़ने हेतु कोई बड़ा निर्णय ले सकते हैं। पिताजी का स्वास्थ्य आपको चिंता दे सकता है इसलिए उनके स्वास्थ्य पर नजर बनाए रखें। भाई बहनों से सहयोग मिलेगा और वो हर कार्य में आपकी पूरी सहायता करेंगे। लेकिन यह आपका भी कर्तव्य है कि जब उन्हें आवश्यकता हो तो आप उनकी मदद करें और ऐसा मौका इस महीने आपको मिलेगा। परिवार की भलाई के लिए आपको कुछ कठिन निर्णय लेने के लिए भी तैयार रहना होगा। ऐसी भी संभावना है कि आपको परिवार से दूर रहना पड़े। लेकिन ऐसा लंबे समय के लिए नहीं होगा और आपकी खूबियां आपको परिवार वालों के और निकट लेकर आएँगी।

उपाय

आपको माता महाकाली अथवा भैरव बाबा की उपासना करनी चाहिए। बुधवार के दिन भैरव मंदिर जाकर इमरती चढ़ाएं। राह चलते किसी कुत्ते को खाने के लिए कुछ अवश्य दें। प्रतिदिन पक्षियों को सतनाजा (सात प्रकार का अनाज) डालें और बुधवार के दिन चिड़ियों अथवा तोते के जोड़े को पिंजरे से निकालकर आजाद करें। प्रतिदिन कुछ ना कुछ रसीली मिठाई अवश्य खाएं। आप नियमित रूप से श्री विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें और पाठ करते समय भगवान विष्णु की प्रतिमा के साथ देसी घी का दीपक जलाएं। गौ माता की सेवा करें और उन्हें हरा चारा खिलाएं। महिलाओं का सम्मान करें और अपनी बुआ, मौसी आदि को बुधवार के दिन हरे रंग की चूड़ियां अथवा साड़ी भेंट करें।